आपने कई बार Facebook पर कुछ फैशन प्रोडक्ट्स, कपड़े और अन्य प्रोडक्ट के विज्ञापन देखे होंगे. जब कोई फेसबुक यूजर उन विज्ञापन में दिए गए लिंक के द्वारा कोई प्रोडक्ट खरीदता है, तो उन प्रोडक्ट पर निर्धारित कमीशन Publisher यानी कि Facebook को दे दिया जाता है. अगर आप भी Affiliate Marketing से ऑनलाइन Earning करना चाहते हैं. तो सबसे पहले आपके पास कोई High Website या फिर यूट्यूब चैनल होना चाहिए.
यह वेबसाइट टेक्नोलॉजी से सम्बंधित सभी तरह का ज्ञान मुफ्त में प्रदान करने के लिए बनाया गया है | इस वेबसाईट के माध्यम से मैं राजकुमार सिंह (Subjectgo) आपको सभी तरह के तकनीकी ज्ञान मुफ्त में देने के लिए डिजाईन किया है | मैं इस वेबसाइट के माध्यम से मुफ्त में टेक्नोलॉजी से सम्बंधित ज्ञान जैसे: कंप्यूटर, इन्टरनेट, मोबाइल, सॉफ्टवेयर -ऐप्स इत्यादि चीजें सिखाने का पूरा कोशिश कर रहा हु |
हर व्यक्ति में एक ना एक टैलेंट जरूर होता है। माली जी अगर आपको राइटिंग का टैलेंट है। और आप लिखना पसंद करते हैं। तो आप किसी कंपनी के लिए टाइप कर सकते हैं। जैसे कि बहुत ऐसे कंपनी है। जो चाहते हैं कि उनके वेबसाइट पर हमेशा Article Updates होता रहे। उनके पास इतना टाइम नहीं होता है क्योंकि उनके पास और भी बहुत सारे बिजनेस होते हैं। वह चाहते हैं कि कोई ऐसा हमें मिले जो मेरी वेबसाइट पर हमेशा आर्टिकल डालते रहे। 🙂
अगर आप एक Programmer हैं और आपको Apps Design और Coding(Java, C++) करना आता है तो आप अपना खुद का App बना कर बहुत पैसे कमा सकते हैं। बस आपको एक ज़बर्स्दस्त App बनाने की ज़रुरत है और उसे Google Play या App Store पर Publish कर दीजिये। आप अपने App को Pay Per Download भी बना सकते हैं या Admob Ads से पैसे भी कमा सकते हैं। आप मोबाइल फ़ोन के लिए Ebook App भी बना सकते हैं और उसे App store पर बेच सकते हैं।
उन्‍होंने कहा, 'इस प्रश्‍नावली में कुल 32 सवाल थे। 450 लोगों से आए जवाबों पर निष्‍कर्ष निकला कि 25 फीसदी लोग मानते हैं कि मोदी के भाषण सबसे ज्‍यादा आकर्षित करते हैं। ज‍बकि 48 प्रतिशत ने माना कि पीएम मोदी की राजनीतिक मार्केटिंग सबसे अच्‍छी है।' वकालत की डिग्री हासिल करने वाले चोकसी ने वीर नर्मद साउथ यूनिवर्सिटी के आर्ट्स डिपार्टमेंट के टीचर नीलेश जोशी के निर्देशन में पीएचडी पूरा किया है।
उन्‍होंने कहा, 'इस प्रश्‍नावली में कुल 32 सवाल थे। 450 लोगों से आए जवाबों पर निष्‍कर्ष निकला कि 25 फीसदी लोग मानते हैं कि मोदी के भाषण सबसे ज्‍यादा आकर्षित करते हैं। ज‍बकि 48 प्रतिशत ने माना कि पीएम मोदी की राजनीतिक मार्केटिंग सबसे अच्‍छी है।' वकालत की डिग्री हासिल करने वाले चोकसी ने वीर नर्मद साउथ यूनिवर्सिटी के आर्ट्स डिपार्टमेंट के टीचर नीलेश जोशी के निर्देशन में पीएचडी पूरा किया है।
यह वेबसाइट टेक्नोलॉजी से सम्बंधित सभी तरह का ज्ञान मुफ्त में प्रदान करने के लिए बनाया गया है | इस वेबसाईट के माध्यम से मैं राजकुमार सिंह (Subjectgo) आपको सभी तरह के तकनीकी ज्ञान मुफ्त में देने के लिए डिजाईन किया है | मैं इस वेबसाइट के माध्यम से मुफ्त में टेक्नोलॉजी से सम्बंधित ज्ञान जैसे: कंप्यूटर, इन्टरनेट, मोबाइल, सॉफ्टवेयर -ऐप्स इत्यादि चीजें सिखाने का पूरा कोशिश कर रहा हु |
ऑनलाइन सामान बेचना – अगर आप किसी प्रोडक्ट को बनाने में महारत रखते हैं और आपको सिर्फ ऐसे प्लेटफार्म की जरुरत है जहाँ आपके प्रोडक्ट को लाखों लोग देख सके और खरीद सके तो इसके लिए आप ई-कॉमर्स वेबसाइट पर ऑनलाइन सेलर के रूप में अपने प्रोडक्ट्स बेच सकते हैं। ऐसा करने पर आप बिना खर्च के, लाखों लोगों तक अपने प्रोडक्ट्स की पहुँच बना पाएंगे और अपने प्रोडक्ट्स को ऑनलाइन बेचकर काफी अच्छा पैसा कमा सकेंगे।
एफिलिएट मार्केटिंग में करना क्या होता है, कि आपको ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट है, उसमें एक या दो वेबसाइट से आपको एफिलिएट लेना होता है.  एफिलिएट लेने के लिए उनके वेबसाइट पर आपको रजिस्टर करना होता है. एफिलिएट लेने के बाद उनके प्रोडक्ट्स को अपने वेबसाइट के ऊपर लिंक के साथ पेस्ट करना होता है. कोई व्यक्ति जब उस प्रोडक्ट को आपके वेबसाइट के थ्रू जाकर प्रोडक्ट को परचेस कर लेता है, तो उसमें एक फिक्स कमीशन आपको मिलती है. यह कमीशन 4% से 15% तक होता है. घर बैठे पैसे कमाने के तरीके में सबसे अच्छा है. 
एफिलिएट मार्केटिंग – अमेज़न और फ्लिपकार्ट जैसी लगभग हर ई-कॉमर्स कंपनी अपना एफिलिएटेड प्रोग्राम चलाती है। एफिलिएट मार्केटिंग में अपने ब्लॉग, वेबसाइट जैसे ऑनलाइन स्थानों पर विभिन्न प्रकार के प्रोडक्ट्स को प्रमोट करना होता है। ऐसा करने के बाद, जब भी कोई यूजर आपके द्वारा प्रमोट किये गए लिंक पर क्लिक करके कोई प्रोडक्ट खरीदता है तो उस प्रोडक्ट के मूल्य का कुछ प्रतिशत आपको कमीशन के रूप में मिल जाता है|
कुछ माता-पिता अपने बच्चों पर बहुत अधिक ध्यान देते हैं और हमेशा यदि वे  कुछ गलत करें तो उन्हें रोकते हैं। लेकिन कुछ माता-पिता अपने बच्चों को उन सम्मानों को नहीं सिखाते हैं जो उन्हें अपने शिक्षकों को देना चाहिए। कुछ माता-पिता अपने बच्चों को महंगे फोन और अन्य ऐसे गैजेट (यंत्र) भी दे देते हैं जिससे वे अकड़ कर चलते हैं। इसलिए, बहुत से बच्चे अब शिक्षा के लिए, बल्कि केवल पैसे की धौंस दिखाने के लिए स्कूल जा रहे हैं। यही कारण है कि स्कूल जाने वाले बच्चों के साथ एमएमएस जैसी कई अनैतिक घटनाएं हो रही हैं। इसके अतिरिक्त बाहर काम करने वाले माता-पिता के पास अपने बच्चों के लिए समय कम होता है। वे इससे चिंतित रहते हैं कि उनके बच्चे क्या कर रहे हैं और किसके साथ वे अपना समय बिता रहे हैं। माता-पिता अपने समय को छोड़कर अपने बच्चों को सब कुछ देने का प्रयास करते हैं। लेकिन माता-पिता को माहौल के समय के महत्व का एहसास होना चाहिए।
×