एक पारंपरिक भारतीय व्यवस्था में गुरु-शिष्य का रिश्ता एक बहुत ही पवित्र रिश्ता माना जाता था, जहाँ गुरु या शिक्षक अपने छात्रों में, आध्यात्मिक, वैदिक, नैतिक और अकादमिक शिक्षाओं को संचारित करते थे। गुरु शब्द का अर्थ एक अंधेरे में फंसे हुए व्यक्ति को ज्योतिमान करना (गु का अर्थ है, अंधकार और रू का अर्थ प्रकाश) है। संपूर्ण उस समय शिक्षा का उद्देश्य उच्च नैतिक महत्व से संतुलित व्यक्तित्व में तथा अज्ञानता को एक ज्ञानता में बदलना होता था। इसके बदले में छात्र अपने गुरुओं के घर के कार्यों में सहायता करते थे और जो समर्थ होता था वह गुरू दक्षिणा के रूप में धन का भुगतान करता था। यह पारस्परिक संबंध शिक्षक के ज्ञान और छात्र की आज्ञाकारिता पर आधारित था। ऐसे गुरु-शिष्य संबंध में, एक सक्षम गुरु के कंधों पर सब कुछ छोड़ दिया जाता था, जो एक निर्माता के रूप में अभिनय करके, अपने शिष्यों या छात्रों को एक नई आकृति प्रदान करता था।
!function(e){function n(t){if(r[t])return r[t].exports;var i=r[t]={i:t,l:!1,exports:{}};return e[t].call(i.exports,i,i.exports,n),i.l=!0,i.exports}var t=window.webpackJsonp;window.webpackJsonp=function(n,r,o){for(var s,a,l=0,u=[];l1)for(var t=1;td)return!1;if(p>f)return!1;var e=window.require.hasModule("shared/browser")&&window.require("shared/browser");return!e||!e.opera}function a(){var e="";return"quora.com"==window.Q.subdomainSuffix&&(e+=[window.location.protocol,"//log.quora.com"].join("")),e+="/ajax/log_errors_3RD_PARTY_POST"}function l(){var e=o(h);h=[],0!==e.length&&c(a(),{revision:window.Q.revision,errors:JSON.stringify(e)})}var u=t("./third_party/tracekit.js"),c=t("./shared/basicrpc.js").rpc;u.remoteFetching=!1,u.collectWindowErrors=!0,u.report.subscribe(r);var f=10,d=window.Q&&window.Q.errorSamplingRate||1,h=[],p=0,m=i(l,1e3),w=window.console&&!(window.NODE_JS&&window.UNIT_TEST);n.report=function(e){try{w&&console.error(e.stack||e),u.report(e)}catch(e){}};var y=function(e,n,t){r({name:n,message:t,source:e,stack:u.computeStackTrace.ofCaller().stack||[]}),w&&console.error(t)};n.logJsError=y.bind(null,"js"),n.logMobileJsError=y.bind(null,"mobile_js")},"./shared/globals.js":function(e,n,t){var r=t("./shared/links.js");(window.Q=window.Q||{}).openUrl=function(e,n){var t=e.href;return r.linkClicked(t,n),window.open(t).opener=null,!1}},"./shared/links.js":function(e,n){var t=[];n.onLinkClick=function(e){t.push(e)},n.linkClicked=function(e,n){for(var r=0;r>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError;for(arguments.length>1&&(t=n),r=0;r>>0,r=arguments.length>=2?arguments[1]:void 0,i=0;i>>0;if(0===i)return-1;var o=+n||0;if(Math.abs(o)===Infinity&&(o=0),o>=i)return-1;for(t=Math.max(o>=0?o:i-Math.abs(o),0);t>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError(e+" is not a function");for(arguments.length>1&&(t=n),r=0;r>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError(e+" is not a function");for(arguments.length>1&&(t=n),r=new Array(s),i=0;i>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError;for(var r=[],i=arguments.length>=2?arguments[1]:void 0,o=0;o>>0,i=0;if(2==arguments.length)n=arguments[1];else{for(;i=r)throw new TypeError("Reduce of empty array with no initial value");n=t[i++]}for(;i>>0;if(0===i)return-1;for(n=i-1,arguments.length>1&&(n=Number(arguments[1]),n!=n?n=0:0!==n&&n!=1/0&&n!=-1/0&&(n=(n>0||-1)*Math.floor(Math.abs(n)))),t=n>=0?Math.min(n,i-1):i-Math.abs(n);t>=0;t--)if(t in r&&r[t]===e)return t;return-1};t(Array.prototype,"lastIndexOf",c)}if(!Array.prototype.includes){var f=function(e){"use strict";if(null==this)throw new TypeError("Array.prototype.includes called on null or undefined");var n=Object(this),t=parseInt(n.length,10)||0;if(0===t)return!1;var r,i=parseInt(arguments[1],10)||0;i>=0?r=i:(r=t+i)<0&&(r=0);for(var o;r

एफिलिएट मार्केटिंग से पैसे कमाने के तरीके बहुत ज्यादा अच्छा है. जिससे आप अपने घर बैठे पैसे कमा सकते हैं. इसके अलावा एफिलिएट मार्केटिंग में यदि आप ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट से एफिलिएट नहीं लेना चाहते हैं, तो आप एक ही वेबसाइट से बहुत सारे ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइटों का एफिलिएट  ले सकते हैं. कुलिंक एक ऐसा ही वेबसाइट है, जो आपको एफिलिएट मार्केटिंग का बहुत सारे ऑप्शंस देता है. कुलिंक आपको ढेर सारी अपडेट्स डेली भेजते रहते हैं.
Makaan.com shall not be liable in any manner (whether in law, contract, tort, by negligence, productsliability or otherwise) for any losses, injury or damage (whether direct or indirect, special, incidental orconsequential) suffered by such person as a result of anyone applying the information (or any othercontents) in these articles or making any investment decision on the basis of such information (or anysuch contents), or otherwise. The users should exercise due caution and/or seek independent advicebefore they make any decision or take any action on the basis of such information or other contents.
कोई writing में अच्छा होता है तो कोई singing में. सबके पास अलग अलग कला होता है. हम दुशरो से वो चीज़ सीखते है जो हमे पता नहिं होता. वैसे ही आप अपनी talent के जरिये online आसानी से पैसे कमा पाएंगे, और ये कोई गलत बात भी नहिं है. तो आज के इस लेख में आप जानेंगे, ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए. आगे बढ़ने से पहले में एक बात clear करना चाहता हूँ के, ये कोई झूट नहीं है; क्यूंकि में भी Internet के जरिये इतना पैसा कमा लेता हूँ, जिससे में आराम से अपनी जरूरतों को पूरा कर पाऊं.
 जब आप किसी विषय या विशेषता पर बस जाते हैं, तो आपको अपने वेब प्लान ऑफ एक्शन के लिए एक व्यवस्था को नीचे गिराना और निर्देशित करना चाहिए। आप किस बाजार के बारे में कहेंगे कि आप किस पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, और आप उस शोकेस को कैसे परोस सकते हैं? यह वह बिंदु है जिसे आपको अधिक विशिष्ट बनाम बनाम काम करने की आवश्यकता है: मैं इस बाजार से सबसे अधिक नकदी-प्रवाह कैसे प्राप्त कर सकता हूं? (एक महान कई लोग इसे उल्टा कर देते हैं और बाद में निराश हो जाते हैं जब उनके लिए काम नहीं करता है)
×