लेकिन आज का परिदृश्य अब पहले की तरह नहीं रहा। यह पूरी तरह से बदल गया है। स्कूल जा रहे बच्चों के साथ, छेड़छाड़ और बलात्कार जैसे मामले और अन्य स्कूल संबंधी अपराधों के कई आत्मघाती मामले स्पष्ट रूप से दर्शा रहे हैं कि बहुत कुछ बदल चुका है। अगर हम समाचार पत्रों की हेडलाइंसों को देखते हैं तो हमें इस प्रकार की कई सुर्खियां दिखाई पड़ती हैं। चेन्नई में एक 10 वीं कक्षा की छात्रा ने शिक्षक द्वारा पिटाई और निर्वस्त्र होने से क्षुब्ध होकर आत्महत्या कर ली थी। दिल्ली में एक शिक्षक द्वारा एक छात्र पर डस्टर फेंकने के कारण उस छात्र ने अपनी आँखे खो दीं थीं और हाल यह हो गया है कि छात्र भी अपने शिक्षकों को नहीं छोड़ते। अपने शिक्षकों को मारने वाले छात्रों की खबरों को भी पूरे भारत में सुना गया है। कुछ अमीर छात्र बहुत ही अक्खड़ होते हैं और वे पैसों के घमंड़ में आकर अपने शिक्षकों का सम्मान भी नहीं करते हैं तथा अपने गुरू की बात पर ध्यान भी नहीं देते, कि वे क्या कह रहे हैं।
हर कोई चाहता है पैसे कमाना. इसीलिए लोग Google में हर रोज ये search करते रहते है के, “ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए“, “गूगल से पैसे कैसे कमाए“, “इंटरनेट से पैसे कैसे कमाए“, etc. लोगो को पैसे इसीलिए चाहिए, ताकि उनसे वो अपनी ज़रुरतो को पूरी कर सके. उम्र बढ़ने के साथ साथ एक ज़िम्मेदारी भी आ जाता है और अगर आप अभी से पैसे कमाने के तरीके के बारे में जान लेते है तो आपका तो चांदी ही चांदी है. लोग बहुत तरीको से पैसे कमाते है, जैसे job करके, अपने खुद का business start करके, या फिर online से. आप ये सोच रहे होंगे के How to make money Online? क्या ये सम्भब है, या फिर में मजाक कर रहा हूँ.
 यदि आपके पास वेबसाइट या YouTube चैनल है. तो आपको किसी ई-कॉमर्स वेबसाइट से Affiliate प्रोग्राम को join करना होगा. उसके बाद आपको Affiliate प्रोग्राम से Affiliate लिंक प्राप्त होंगे. जिनको आप अपने वेबसाइट के आर्टिकल या फिर वीडियो के डिस्क्रिप्शन में suggest के रूप में दे सकते हैं. यदि उस लिंक से किसी भी प्रोडक्ट की सेल होती है. तो आपको उस प्रोजेक्ट का निर्धारित कमीशन मिल जाएगा. इस तरीके से आप ऑनलाइन अच्छी खांसी इनकम प्राप्त कर सकते हैं.

 अगर ब्लॉगिंग और YouTube का कंपैरिजन किया जाए. तो मैं आपको Highly Recommend करूंगा, कि आप YouTube को ही सिलेक्ट करें. क्योंकि अगर आप ब्लॉगिंग चुनते हैं, तो आप को बहुत सी टेक्निकल चीजों को समझने की जरूरत होती है. जिसको सीखने में बहुत सारा टाइम लगता है. अगर मैं अपनी बात करूं तो मैं लगभग last 2 साल से ब्लॉगिंग सीख  रहा हूं. तब जाके अब कहीं ब्लॉगिंग को समझ पाया हूँ.


हम उदाहरण के तौर पर समझना चाहेंगे जैसे कि आप एक दुकान खोल दे और उसमें आप जो समान sell  करते हैं customer उसके बारे में जाने तो इसमें आपका दुकान कभी grow नहीं कर पायेगा और आप सोचेंगे कि हम तो इतने अच्छे सामान बेचते हैं फिर भी customer  नहीं आते हैं यहां पर आपका सोचना सही है लेकिन आप को यह भी समझना होगा की आपने जो shop लगाया है उसके बारे में जानेंगे तभी तो आपके दुकान पर आएंगे तो इसके लिए आपको आपके दुकान के  सामने जो भी आप सामान बेचते हैं उसका आप poster लगाएं तथा आप इसके लिए marketing तथा advertising कर सकते हैं |   परिणाम स्वरुप यह सब करने के बाद आपके दुकान के बारे में जानने लगेंगे और आपका sell increase  होता जाएगा और आप अच्छे पैसे कमाने लगेंगे ठीक उसी प्रकार हम online money बनाने के लिए कुछ start  किए हैं तो उसके बारे में लोगों को पता चलेगा तो ही तो आप जो लोगों को जो service देना चाहते हैं उसे वह देखेंगे, समझे और अगर आपका service  पसंद आएगा तो उसे खरीद सकते हैं|  

MakeHindi.com पर आपका स्वागत है यहां हम हर रोज मोबाइल, जरा हटके, सोशल, तकनीक, मेक मनी और क्रिकेट से जुड़ी जानकारियां पोस्ट करते है. आप इसी तरह इस वेबसाइट पर विजिट करते रहिये हम ऐसे ही आपके लिए जानकारियां शेयर करते रहेंगे. Website Owner और Youtuber कृपया ध्यान दे इस वेबसाइट के सभी लेख Copyrighted.com प्रोटेक्टेड हैं. किसी भी रूप में किसी भी Post की कॉपी, स्क्रिप्ट या अन्य उपयोग न करे.


!function(n,t){function r(e,n){return Object.prototype.hasOwnProperty.call(e,n)}function i(e){return void 0===e}if(n){var o={},s=n.TraceKit,a=[].slice,l="?";o.noConflict=function(){return n.TraceKit=s,o},o.wrap=function(e){function n(){try{return e.apply(this,arguments)}catch(e){throw o.report(e),e}}return n},o.report=function(){function e(e){l(),h.push(e)}function t(e){for(var n=h.length-1;n>=0;--n)h[n]===e&&h.splice(n,1)}function i(e,n){var t=null;if(!n||o.collectWindowErrors){for(var i in h)if(r(h,i))try{h[i].apply(null,[e].concat(a.call(arguments,2)))}catch(e){t=e}if(t)throw t}}function s(e,n,t,r,s){var a=null;if(w)o.computeStackTrace.augmentStackTraceWithInitialElement(w,n,t,e),u();else if(s)a=o.computeStackTrace(s),i(a,!0);else{var l={url:n,line:t,column:r};l.func=o.computeStackTrace.guessFunctionName(l.url,l.line),l.context=o.computeStackTrace.gatherContext(l.url,l.line),a={mode:"onerror",message:e,stack:[l]},i(a,!0)}return!!f&&f.apply(this,arguments)}function l(){!0!==d&&(f=n.onerror,n.onerror=s,d=!0)}function u(){var e=w,n=p;p=null,w=null,m=null,i.apply(null,[e,!1].concat(n))}function c(e){if(w){if(m===e)return;u()}var t=o.computeStackTrace(e);throw w=t,m=e,p=a.call(arguments,1),n.setTimeout(function(){m===e&&u()},t.incomplete?2e3:0),e}var f,d,h=[],p=null,m=null,w=null;return c.subscribe=e,c.unsubscribe=t,c}(),o.computeStackTrace=function(){function e(e){if(!o.remoteFetching)return"";try{var t=function(){try{return new n.XMLHttpRequest}catch(e){return new n.ActiveXObject("Microsoft.XMLHTTP")}},r=t();return r.open("GET",e,!1),r.send(""),r.responseText}catch(e){return""}}function t(t){if("string"!=typeof t)return[];if(!r(j,t)){var i="",o="";try{o=n.document.domain}catch(e){}var s=/(.*)\:\/\/([^:\/]+)([:\d]*)\/{0,1}([\s\S]*)/.exec(t);s&&s[2]===o&&(i=e(t)),j[t]=i?i.split("\n"):[]}return j[t]}function s(e,n){var r,o=/function ([^(]*)\(([^)]*)\)/,s=/['"]?([0-9A-Za-z$_]+)['"]?\s*[:=]\s*(function|eval|new Function)/,a="",u=10,c=t(e);if(!c.length)return l;for(var f=0;f0?s:null}function u(e){return e.replace(/[\-\[\]{}()*+?.,\\\^$|#]/g,"\\$&")}function c(e){return u(e).replace("<","(?:<|<)").replace(">","(?:>|>)").replace("&","(?:&|&)").replace('"','(?:"|")').replace(/\s+/g,"\\s+")}function f(e,n){for(var r,i,o=0,s=n.length;or&&(i=s.exec(o[r]))?i.index:null}function h(e){if(!i(n&&n.document)){for(var t,r,o,s,a=[n.location.href],l=n.document.getElementsByTagName("script"),d=""+e,h=/^function(?:\s+([\w$]+))?\s*\(([\w\s,]*)\)\s*\{\s*(\S[\s\S]*\S)\s*\}\s*$/,p=/^function on([\w$]+)\s*\(event\)\s*\{\s*(\S[\s\S]*\S)\s*\}\s*$/,m=0;m]+)>|([^\)]+))\((.*)\))? in (.*):\s*$/i,o=n.split("\n"),l=[],u=0;u=0&&(g.line=v+x.substring(0,j).split("\n").length)}}}else if(o=d.exec(i[y])){var _=n.location.href.replace(/#.*$/,""),T=new RegExp(c(i[y+1])),E=f(T,[_]);g={url:_,func:"",args:[],line:E?E.line:o[1],column:null}}if(g){g.func||(g.func=s(g.url,g.line));var k=a(g.url,g.line),A=k?k[Math.floor(k.length/2)]:null;k&&A.replace(/^\s*/,"")===i[y+1].replace(/^\s*/,"")?g.context=k:g.context=[i[y+1]],h.push(g)}}return h.length?{mode:"multiline",name:e.name,message:i[0],stack:h}:null}function y(e,n,t,r){var i={url:n,line:t};if(i.url&&i.line){e.incomplete=!1,i.func||(i.func=s(i.url,i.line)),i.context||(i.context=a(i.url,i.line));var o=/ '([^']+)' /.exec(r);if(o&&(i.column=d(o[1],i.url,i.line)),e.stack.length>0&&e.stack[0].url===i.url){if(e.stack[0].line===i.line)return!1;if(!e.stack[0].line&&e.stack[0].func===i.func)return e.stack[0].line=i.line,e.stack[0].context=i.context,!1}return e.stack.unshift(i),e.partial=!0,!0}return e.incomplete=!0,!1}function g(e,n){for(var t,r,i,a=/function\s+([_$a-zA-Z\xA0-\uFFFF][_$a-zA-Z0-9\xA0-\uFFFF]*)?\s*\(/i,u=[],c={},f=!1,p=g.caller;p&&!f;p=p.caller)if(p!==v&&p!==o.report){if(r={url:null,func:l,args:[],line:null,column:null},p.name?r.func=p.name:(t=a.exec(p.toString()))&&(r.func=t[1]),"undefined"==typeof r.func)try{r.func=t.input.substring(0,t.input.indexOf("{"))}catch(e){}if(i=h(p)){r.url=i.url,r.line=i.line,r.func===l&&(r.func=s(r.url,r.line));var m=/ '([^']+)' /.exec(e.message||e.description);m&&(r.column=d(m[1],i.url,i.line))}c[""+p]?f=!0:c[""+p]=!0,u.push(r)}n&&u.splice(0,n);var w={mode:"callers",name:e.name,message:e.message,stack:u};return y(w,e.sourceURL||e.fileName,e.line||e.lineNumber,e.message||e.description),w}function v(e,n){var t=null;n=null==n?0:+n;try{if(t=m(e))return t}catch(e){if(x)throw e}try{if(t=p(e))return t}catch(e){if(x)throw e}try{if(t=w(e))return t}catch(e){if(x)throw e}try{if(t=g(e,n+1))return t}catch(e){if(x)throw e}return{mode:"failed"}}function b(e){e=1+(null==e?0:+e);try{throw new Error}catch(n){return v(n,e+1)}}var x=!1,j={};return v.augmentStackTraceWithInitialElement=y,v.guessFunctionName=s,v.gatherContext=a,v.ofCaller=b,v.getSource=t,v}(),o.extendToAsynchronousCallbacks=function(){var e=function(e){var t=n[e];n[e]=function(){var e=a.call(arguments),n=e[0];return"function"==typeof n&&(e[0]=o.wrap(n)),t.apply?t.apply(this,e):t(e[0],e[1])}};e("setTimeout"),e("setInterval")},o.remoteFetching||(o.remoteFetching=!0),o.collectWindowErrors||(o.collectWindowErrors=!0),(!o.linesOfContext||o.linesOfContext<1)&&(o.linesOfContext=11),void 0!==e&&e.exports&&n.module!==e?e.exports=o:"function"==typeof define&&define.amd?define("TraceKit",[],o):n.TraceKit=o}}("undefined"!=typeof window?window:global)},"./webpack-loaders/expose-loader/index.js?require!./shared/require-global.js":function(e,n,t){(function(n){e.exports=n.require=t("./shared/require-global.js")}).call(n,t("../../../lib/node_modules/webpack/buildin/global.js"))}});
आज के समय में पैसे कामना बहुत मुश्किल हैं| थोड़ा सा पैसे कमाने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती हैं| बहुत बार हमारे साथ यह प्रॉब्लम आती हैं की हम पैसे नहीं कमा पाते| भारत में जॉब मिलना बहुत मुश्किल हैं| अगर जॉब नहीं तो पैसे भी नहीं| पैसे कमाने के लिए भी रोजगार बहुत जरुरी हैं|अगर रोजगार नहीं तो पैसे भी नहीं| आज के समय में रोजगार बहुत ही महत्वपूर्ण हो गया हैं| अगर आपको जीवन चैन से जीना हैं तो पैसे कामना भी चाइये| अगर आपको कही जॉब नहीं मिल और आप पैसे कामना चाहते हैं तो चिंता मत करिये हमारे इस पोस्ट से आपको बहुत महत्वपूर्ण जानकारी मिलेगी|
 कभी-कभी कुछ प्रोडक्ट पर Affiliate से मिलने वाला कमीशन 10 प्रतिशत तक हो सकता है. जो आपके लिए काफी फायदेमंद है. अगर आप Affiliate Marketing से अच्छी कमाई करना चाहते हैं. तो आपके पास काफी सारे ऑडियंस का होना बहुत जरूरी है. अगर आप ऑनलाइन Earning करना चाहते हैं तो आपके लिए Affiliate Marketing एक अच्छा विकल्प है. Affiliate Marketing मैं कुछ कंपनी प्रमुख है. जैसे -Amazone, eBay आदि.
MakeHindi.com पर आपका स्वागत है यहां हम हर रोज मोबाइल, जरा हटके, सोशल, तकनीक, मेक मनी और क्रिकेट से जुड़ी जानकारियां पोस्ट करते है. आप इसी तरह इस वेबसाइट पर विजिट करते रहिये हम ऐसे ही आपके लिए जानकारियां शेयर करते रहेंगे. Website Owner और Youtuber कृपया ध्यान दे इस वेबसाइट के सभी लेख Copyrighted.com प्रोटेक्टेड हैं. किसी भी रूप में किसी भी Post की कॉपी, स्क्रिप्ट या अन्य उपयोग न करे.

अभी तक भले ही आप अपने आइडियाज को लांच करने में झिझक महसूस करते आये हों लेकिन अब आप जान चुके हैं कि ऑनलाइन बिज़नेस वो ऑप्शन है जिसमें आपको बहुत ज्यादा इन्वेस्ट करने की जरुरत नहीं है। थोड़ा पैसा और थोड़ा समय इन्वेस्ट करके भी आप इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं और अपने यूनिक आइडियाज और क्रिएटिव टैलेंट के दम पर आप इस बिजनेस को किस मुकाम पर ले जा सकते हैं, ये तो आपके अपने हाथ में है।
[caption id="attachment_123" align="aligncenter" width="300"] Make online money freelancing[/caption] आपके पास अगर कोई skill है तो आप अपने उस skill का प्रयोग करके किसी दूसरे व्यक्ति को मदद कर सकते हैं और उससे income generate कर सकते हैं इसके लिए भी आपको बहुत सारे वेबसाइट  मिल जाएंगे जिस पर आप अपने experience share करके अच्छे खासे कर सकते हैं हम आपको कुछ website बता देते हैं Fivver, Freelancer,Upwork ….etc इन सभी वेबसाइट पर आप जाकर account create करके वहां पर अपने बारे में detail में Resume तैयार करना है फिर उसके बाद अगर आप fivverपर जाते हैं तो एक Gig तैयार करना होता है उसके बाद आपके प्रोफाइल को लोग देखेंगे और फिर वहां से  आपको काम करने के लिए order देंगे और फिर आप काम पूरा कर देते हैं तो इन सब वेबसाइट थोड़े कमीशन काट कर आपको पूरा पैसा दे देता है |इस प्रकार भी आप ऑनलाइन पैसे कमा सकते हैं | Affiliate marketing:- आप Affiliate marketing करके भी आप बहुत सारे पैसे कमा सकते हैं अगर आप Affiliate marketing  नहीं जानते हैं तो इसमें आपको Online shoping company जो होती है वह अपना Affiliate program चलाती है जिस को join करके आप कंपनी के product को sell करवाते हैं  तो आपको उसका कुछ प्रतिशत कमीशन के तौर पर आपको दे देती है | Affiliate marketing  क्या है इसे कैसे करते है :- जरूर पढें  [caption id="attachment_101" align="aligncenter" width="455"]Affiliate marketing[/caption] कंपनी के product को सेल करने के लिए आपको उस product के लिंक को  आप सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं | जैसे की Facebook Twitter,instagram,whatsApp  इन सभी पर शेयर करते हैं और फिर कोई आपके लिंग के द्वारा जाकर किसी प्रोडक्ट को खरीदता है | हम आपको कुछ Top online shopping website   का उदाहरण दे रहे हैं जिसे आप आसानी से ज्वाइन कर सकते हैं वह है:-Amazon, Flipkart, Ebay, Alibaba, Myntra, Shopcules आदि बहुत ऐसे कंपनियां है  जो affiliate program को चलाती है और यह लगभग सभी online shopping कंपनियां चलाती है |   इसके अलावा आप बहुत सारे ऐसे काम कर सकते हैं जैसे:-Influencer marketing,sponshership,gadget review,promoting,online course provide………etc बहुत सारे आपको platform मिल जाएंगे जिससे आप  पैसा आसानी से बना सकते हैं लेकिन आपको इसके लिए शुरूआत में मेहनत करना होगा |   तो दोस्तों आशा करता हूं कि आपको इन सभी तरीके अच्छे से तो समझ में नहीं आया होगा क्योंकि हमने सिर्फ यहां पर इन सभी चीजों का Introduction  है आप पूरे Detail में इसे समझना चाहते हैं तो आप इस ब्लॉग को subscribe सकते हैं जिससे आपको ईमेल पर पूरी Detail जब भी हम पोस्ट डालेंगे तो चले जाएगी आपको वेबसाइट पर आने की जरूरत नहीं है और अगर अच्छा लगा हो और लगता है आपको कि इससे कुछ हमें मदद मिल गया है तो आप अपने दोस्तों के साथ इसे जरुर शेयर करें |  ]]>
यह सिर्फ एक ही नहीं बल्कि कई कारकों का संयोजन है जो इस परिवर्तन को उत्पन्न करने का कारण है। आजकल, शिक्षण अब एक कर्तव्य नहीं, बल्कि पैसा कमाने का स्त्रोत बन गया है। स्कूलों और कॉलेजों के बाद शिक्षक निजी ट्यूशन (शिक्षण) केन्द्र चलाते हैं और ट्यूशन की कक्षाओं में प्रवेश लेने के लिए छात्रों को उकसाते भी हैं। यह सबसे सम्मानित शिक्षक-छात्र संबंधों को भी अपमानित कर रहा है, क्योंकि पैसा हमारे चरित्र को गंदा कर देता है। हम सब पैसे के पीछे भाग रहे हैं इसलिए शिक्षक भी ऐसा ही करते हैं। स्कूलों में उन्हें अच्छा पैसा नहीं दिया जाता है, इसलिए उन्हें ट्यूशन लेने के अतिरिक्त कोई दूसरा विकल्प दिखाई नहीं पड़ता है। इसके साथ ही, ग्रामीण स्कूलों और कुछ शहरी विद्यालयों की बुनियादी सुविधाओं की गुणवत्ता बहुत ही अनैतिक हो गई है। सुविधाओं की कमी इस समस्या को और बढ़ावा दे रही है। इसे रोकने के लिए, शिक्षकों को अच्छा पैसा दिया जाना चाहिए और बुनियादी सुविधाओं की गुणवत्ता में सुधार किया जाना चाहिए या प्रत्येक स्कूल को एक ही स्तर पर लाया जाना चाहिए।
×