आगे बढ़ने से पहले आपको Contextual Ads को समझ लेना चाहिए। इस प्रकार के विज्ञापन आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर मौजूद कंटेंट के कीवर्ड को समझकर विज्ञापन दिखाते हैं यानि अगर आप वेब होस्टिंग के बारे में लिख रहे हैं तो अधिकतर वेब होस्टिंग या उससे संबंधित विज्ञापन दिखाए जाएंगे। इसलिए अगर आपको ब्लॉग और Media.net ads से ज़्यादा से ज़्यादा आमदनी करनी है तो आप अधिक सर्च किए जाने वाले कीवर्ड के साथ उन कीवर्ड्स को चुनें जिन पर CPC या CPM ज़्यादा मिल सके।
online paise kaise kamaye ? आप ऑनलाइन सामान बेचकर भी पैसे कमा सकते हैं। यह बहुत अच्छा तरीका और बहुत ही आसान तरीका है। ऑनलाइन पैसे कमाने का। अगर आप कोई प्रोडक्ट बनाते हैं। या बेचते हैं, तो आप उसे ऑनलाइन भी Sell सकते हैं। अगर आपके पास कोई स्टोर है और कुछ बेचते हैं। तो आप ऑनलाइन पर जैसे, Flipkart, Amazon etc,. और भी जितने भी साइट से व्हा पर आप अपना प्रोडक्ट को Sell कर सकते हैं। 🙂
Affiliate Marketing सुरु करने केलिए आपको कोई invest करने की जरुरत नहिं है. आप अपना पहला selling e-commerce sites जैसे Flipkart और Amazon से सुरु कर सकते है. उनके affiliate program में join करने के बाद आपको हर product का एक affiliate link मिलेगा. जो किओ भी user उस link से वो product खरीदेगा, आपको उसकी कुछ percent commission मिलेगा. आप ये link अपने blog, video, social media और email से share कर सकते हैं.
चोकसी ने वर्ष 2010 में नरेंद्र मोदी के गुजरात के सीएम रहने के दौरान अपने पीएचडी की शुरुआत की थी। उन्‍होंने बताया कि शुरुआती दौर में मोदी के सफल नेतृत्‍व को लेकर सवाल पूछे तो 51 फीसदी का जवाब सकारात्‍मक रहा। वहीं 34.25 फीसदी लोगों ने ना में जवाब दिया। इस दौरान 46.75 फीसदी लोगों ने कहा कि नेताओं को ऐसे फैसले लेने चाहिए जिससे लोगों का भला हो। इससे नेताओं की लोकप्रियता बढ़ती है।
एफिलिएट मार्केटिंग में करना क्या होता है, कि आपको ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट है, उसमें एक या दो वेबसाइट से आपको एफिलिएट लेना होता है.  एफिलिएट लेने के लिए उनके वेबसाइट पर आपको रजिस्टर करना होता है. एफिलिएट लेने के बाद उनके प्रोडक्ट्स को अपने वेबसाइट के ऊपर लिंक के साथ पेस्ट करना होता है. कोई व्यक्ति जब उस प्रोडक्ट को आपके वेबसाइट के थ्रू जाकर प्रोडक्ट को परचेस कर लेता है, तो उसमें एक फिक्स कमीशन आपको मिलती है. यह कमीशन 4% से 15% तक होता है. घर बैठे पैसे कमाने के तरीके में सबसे अच्छा है. 
समझ लीजिए आपने किसी जॉब साइट को तैयार किया है और यह साइट बहुत ही जानी मानी है | इस साइट पर दिन भर में हजारों युसर्स आकर आपके पोस्ट देखते हैं | यह पोस्ट देखते समय आप आपके साइट पर गूगल ऐडसेंस के ऐड डाल सकते हो जिन पर क्लिक करके आपको गूगल ऑटोमेटिक पैसा देता है | जब आपके वेबसाइट के विजिटर्स ज्यादा से ज्यादा क्लिक करते हैं वैसे वैसे गूगल आपको पैसे देता है | गूगल ऐडसेंस के द्वारा लाखों रुपए कमाना आसान नहीं होता है, कुछ महीनों तक आपको आपके साइट पर ज्यादा से ज्यादा काम करना होता है |
अगर आप एक Programmer हैं और आपको Apps Design और Coding(Java, C++) करना आता है तो आप अपना खुद का App बना कर बहुत पैसे कमा सकते हैं। बस आपको एक ज़बर्स्दस्त App बनाने की ज़रुरत है और उसे Google Play या App Store पर Publish कर दीजिये। आप अपने App को Pay Per Download भी बना सकते हैं या Admob Ads से पैसे भी कमा सकते हैं। आप मोबाइल फ़ोन के लिए Ebook App भी बना सकते हैं और उसे App store पर बेच सकते हैं।
यह सिर्फ एक ही नहीं बल्कि कई कारकों का संयोजन है जो इस परिवर्तन को उत्पन्न करने का कारण है। आजकल, शिक्षण अब एक कर्तव्य नहीं, बल्कि पैसा कमाने का स्त्रोत बन गया है। स्कूलों और कॉलेजों के बाद शिक्षक निजी ट्यूशन (शिक्षण) केन्द्र चलाते हैं और ट्यूशन की कक्षाओं में प्रवेश लेने के लिए छात्रों को उकसाते भी हैं। यह सबसे सम्मानित शिक्षक-छात्र संबंधों को भी अपमानित कर रहा है, क्योंकि पैसा हमारे चरित्र को गंदा कर देता है। हम सब पैसे के पीछे भाग रहे हैं इसलिए शिक्षक भी ऐसा ही करते हैं। स्कूलों में उन्हें अच्छा पैसा नहीं दिया जाता है, इसलिए उन्हें ट्यूशन लेने के अतिरिक्त कोई दूसरा विकल्प दिखाई नहीं पड़ता है। इसके साथ ही, ग्रामीण स्कूलों और कुछ शहरी विद्यालयों की बुनियादी सुविधाओं की गुणवत्ता बहुत ही अनैतिक हो गई है। सुविधाओं की कमी इस समस्या को और बढ़ावा दे रही है। इसे रोकने के लिए, शिक्षकों को अच्छा पैसा दिया जाना चाहिए और बुनियादी सुविधाओं की गुणवत्ता में सुधार किया जाना चाहिए या प्रत्येक स्कूल को एक ही स्तर पर लाया जाना चाहिए।
×