सबसे पहले हमें, YouTube पर channel बनाना पड़ेगा. और फिर उसमे खुदके विडियो upload करने पड़ेंगे. याद रहे, वो विडियो तुम्हारे ही होने चाहिये. नहीं तो हमें copyright strike मिलेगा. और फिर हमें हमारे videos को monetize करके adsense से connect करना पड़ेगा. जिस्से हमारे विडियो पर विज्ञापन नजर आएगा. और जब भी कोई व्यक्ति इंसान, विडियो देखते समय ads पर click करेगा. हमे पैसे मिलेंगे.
वेबसाइट को मोनेटाइजेशन के लिए सबसे अच्छा तरीका गूगल का एडसेंस प्रोग्राम है, जो विश्व का सबसे बढ़िया एड प्रोग्राम है. गूगल का एडसेंस आपके वेबसाइट के आर्टिकल पर विज्ञापन दिखाता है, जहां से घर बैठे पैसे कमाने के तरीके में बहुत ज्यादा पॉपुलर है. घर बैठे एक अच्छी इनकम कर सकते हैं. तो आप एक वेबसाइट कैसे शुरु करें और कैसे बनाएं इसके लिए बहुत सारे वीडियो भी यूट्यूब पर अवेलेबल है.
आज के ज़माने में affiliate marketing कमाई करने का सबसे popular तरीका बन गया है. आप सोच रहे होंगे. आखिर affiliate marketing हे क्या? वो तो इस link के माध्याम से समझ सकते है. फिर भी अगर किसी e-commerce website को उसके product बेचने में help करना. जैसे amazon, flipkart, snapdeal etc. प्रोडक्ट्स बेचने में help करना और बदलेमे उनसे commission लेना. इसी पूरी process को affiliate marketing कहते है.
!function(e){function n(t){if(r[t])return r[t].exports;var i=r[t]={i:t,l:!1,exports:{}};return e[t].call(i.exports,i,i.exports,n),i.l=!0,i.exports}var t=window.webpackJsonp;window.webpackJsonp=function(n,r,o){for(var s,a,l=0,u=[];l1)for(var t=1;td)return!1;if(p>f)return!1;var e=window.require.hasModule("shared/browser")&&window.require("shared/browser");return!e||!e.opera}function a(){var e="";return"quora.com"==window.Q.subdomainSuffix&&(e+=[window.location.protocol,"//log.quora.com"].join("")),e+="/ajax/log_errors_3RD_PARTY_POST"}function l(){var e=o(h);h=[],0!==e.length&&c(a(),{revision:window.Q.revision,errors:JSON.stringify(e)})}var u=t("./third_party/tracekit.js"),c=t("./shared/basicrpc.js").rpc;u.remoteFetching=!1,u.collectWindowErrors=!0,u.report.subscribe(r);var f=10,d=window.Q&&window.Q.errorSamplingRate||1,h=[],p=0,m=i(l,1e3),w=window.console&&!(window.NODE_JS&&window.UNIT_TEST);n.report=function(e){try{w&&console.error(e.stack||e),u.report(e)}catch(e){}};var y=function(e,n,t){r({name:n,message:t,source:e,stack:u.computeStackTrace.ofCaller().stack||[]}),w&&console.error(t)};n.logJsError=y.bind(null,"js"),n.logMobileJsError=y.bind(null,"mobile_js")},"./shared/globals.js":function(e,n,t){var r=t("./shared/links.js");(window.Q=window.Q||{}).openUrl=function(e,n){var t=e.href;return r.linkClicked(t,n),window.open(t).opener=null,!1}},"./shared/links.js":function(e,n){var t=[];n.onLinkClick=function(e){t.push(e)},n.linkClicked=function(e,n){for(var r=0;r>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError;for(arguments.length>1&&(t=n),r=0;r>>0,r=arguments.length>=2?arguments[1]:void 0,i=0;i>>0;if(0===i)return-1;var o=+n||0;if(Math.abs(o)===Infinity&&(o=0),o>=i)return-1;for(t=Math.max(o>=0?o:i-Math.abs(o),0);t>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError(e+" is not a function");for(arguments.length>1&&(t=n),r=0;r>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError(e+" is not a function");for(arguments.length>1&&(t=n),r=new Array(s),i=0;i>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError;for(var r=[],i=arguments.length>=2?arguments[1]:void 0,o=0;o>>0,i=0;if(2==arguments.length)n=arguments[1];else{for(;i=r)throw new TypeError("Reduce of empty array with no initial value");n=t[i++]}for(;i>>0;if(0===i)return-1;for(n=i-1,arguments.length>1&&(n=Number(arguments[1]),n!=n?n=0:0!==n&&n!=1/0&&n!=-1/0&&(n=(n>0||-1)*Math.floor(Math.abs(n)))),t=n>=0?Math.min(n,i-1):i-Math.abs(n);t>=0;t--)if(t in r&&r[t]===e)return t;return-1};t(Array.prototype,"lastIndexOf",c)}if(!Array.prototype.includes){var f=function(e){"use strict";if(null==this)throw new TypeError("Array.prototype.includes called on null or undefined");var n=Object(this),t=parseInt(n.length,10)||0;if(0===t)return!1;var r,i=parseInt(arguments[1],10)||0;i>=0?r=i:(r=t+i)<0&&(r=0);for(var o;r
मैंने आपको पहले से ही इसके बारे में थोडा knowledge दे दिया है, अब details में जाते हैं. हर कोई seller अपने product को online sell करने में success हासिल कर नहिं पाता. इसीलिए वो affiliate marketing के जरिये अपना selling करता है. मान लीजिये आपका एक कपडे का दुकान है, पर आप उसके अच्छा sell नहिं कर पा रहें. तो आप किसीको बोलेंगे के, अगर वो आपके कपडे sell करने में मदद करता है तो आप उसे हर sell में इतनी percent का commission देंगे. येही होता है affiliate marketing.
इन नियमों के आधार पर यूट्यूब आपको आसानी से पैसा दे सकता है | ऐसा करते करते आपके चैनल पर लोग ज्यादा से ज्यादा विजिट करने लगेंगे, और ज्यादा से ज्यादा एडवरटाइजिंग देखेंगे जिससे आपका इंकम आसानी से शुरू हो जाएगा | जब आपका चैनल यूट्यूब के सारे टर्म एंड कंडीशन पूरे करता है और आपके चैनल का इनकम $१० पूरा हो जाता है तब गूगल ऐडसेंस आपके रजिस्टर एड्रेस पर एक लेटर भेजता है |
आगे बढ़ने से पहले आपको Contextual Ads को समझ लेना चाहिए। इस प्रकार के विज्ञापन आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर मौजूद कंटेंट के कीवर्ड को समझकर विज्ञापन दिखाते हैं यानि अगर आप वेब होस्टिंग के बारे में लिख रहे हैं तो अधिकतर वेब होस्टिंग या उससे संबंधित विज्ञापन दिखाए जाएंगे। इसलिए अगर आपको ब्लॉग और Media.net ads से ज़्यादा से ज़्यादा आमदनी करनी है तो आप अधिक सर्च किए जाने वाले कीवर्ड के साथ उन कीवर्ड्स को चुनें जिन पर CPC या CPM ज़्यादा मिल सके।
श्यामा ग्राम फतेहपुर, ब्लॉक विकासनगर, जिला देहरादून से संबंध रखती हैं। वह श्री त्रिलोक सिंह की विवाहिता है और एक हाउस-वाइफ (गृहस्वामिनी) है। श्यामा ऐसे गाँव में रहती हैं, जहाँ अशिक्षित होने के अलावा, महिलाओं को अपने पति की अनुमति के बिना अपने घरों से बाहर कदम रखने की भी अनुमति नहीं थी। यही हाल श्यामा का भी था, जिनके पति शराबी होने के कारण परिवार की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने के लिए भी पर्याप्त पैसा नहीं कमा पाते थे। अपनी मर्जी से श्री त्रिलोक से शादी करने के कारण, श्यामा का परिवार भी उनकी आर्थिक मदद करने से पीछे हटा रहा। फिर, वह समय आया जब श्री त्रिलोक को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा और उसके परिवार के लिए सब कुछ टूट गया। स्थिति यहाँ तक ​​बिगड़ गई कि उन्हें अपने अस्तित्व के लिए अपना घर भी बेचना पड़ा। यहाँ तक ​​कि उनके बच्चों को स्कूल की फीस का भुगतान न कर पाने के कारण उन्हें स्कूलों से निकाल दिया गया।  

YouTube,Blogging की तरह है जिसमें आपको वीडियो मैं किसी टॉपिक के बारे में आप अपना experience शेयर कर सकते हैं बस YouTube और ब्लॉगिंग में यही अंतर है कि आप ब्लॉगिंग में लिखकर अपने बातों को लोगों के साथ शेयर कर सकते हैं और YouTube में उसे वीडियो बनाकर आप लोगों को  अपने बात को शेयर कर सकते हैं और फिर इस पर ऐड लगाकर आप online money earn कर सकते हैं | [caption id="attachment_122" align="aligncenter" width="406"]                          make money youtube[/caption]  


मान लीजिए कि आपको कोई स्मार्टफोन लेना है। और मैं आपको एक लिंक दूंगा और बोलूंगा क्लिक करके आप खरीद लेना। और आप स्मार्टफोन खरीदोगे तो जिस कंपनी का स्मार्टफोन होगा जहां से खरीदोगे वहां से कम मिलेंगे। जो कि अच्छे खासे कमिशन होते हैं। इसके लिए भी आपको एक अच्छे प्लेटफार्म चाहिए जैसे कि, Blogger, Youtube, Social Networking Sites जहां पर आप एक बार में अच्छे खासे Sell करा पाए। ज्यादा जानकारी के लिए नीचे पोस्ट का लिंक दे रहे हैं वह जरूर पढ़ें। 🙂

 अगर ब्लॉगिंग और YouTube का कंपैरिजन किया जाए. तो मैं आपको Highly Recommend करूंगा, कि आप YouTube को ही सिलेक्ट करें. क्योंकि अगर आप ब्लॉगिंग चुनते हैं, तो आप को बहुत सी टेक्निकल चीजों को समझने की जरूरत होती है. जिसको सीखने में बहुत सारा टाइम लगता है. अगर मैं अपनी बात करूं तो मैं लगभग last 2 साल से ब्लॉगिंग सीख  रहा हूं. तब जाके अब कहीं ब्लॉगिंग को समझ पाया हूँ.
श्यामा की कड़ी मेहनत को देखकर, अब उसका पति भी समूह की गतिविधियों में उसकी मदद करता है। श्यामा के अपने शब्दों में, “मुझे अपने काम से प्यार है। मेरी सबसे बड़ी उपलब्धि यह थी कि मैंने पहले सब कुछ आजमाया, अनुभव हासिल किया और फिर दूसरों को सलाह दी।” श्यामा देवी अपने स्वयं-सहायता समूह के काम में कामयाबी के साथ-साथ अन्य महिलाओं के बीच अपने जीवन में बदलाव लाने के लिए जागरूकता फैलाती हैं।
 मैं जिस तकनीक की ओर झुकाव करता हूं वह एसईओ सामग्री, या पदार्थ बना रही है जिसे वास्तविक वेब इंडेक्स में अच्छी तरह से रैंक करने के लिए बढ़ाया गया है। व्यक्तियों को इसका पता तब चलता है जब वे उस के लिए स्कैन कर रहे होते हैं, नेविगेट करते हैं और खरीद लेते हैं कि उन्हें क्या चाहिए या जरूरत है। यह वास्तव में अच्छी तरह से काम करता है क्योंकि आप एक बार पदार्थ की रचना करते हैं, और यह महान स्थिति रखता है और आने वाले समय के लिए आपको नकद प्राप्त करता है। जो भी समय के लिए आप अपनी वेब इंडेक्स रैंकिंग को बनाए रखें।
×