इन रिकॉर्ड्स में मेडिकल हिस्ट्री व फिजिकल रिपोर्ट, क्लिनिक रिपोर्ट, ऑफिस नोट्स, ऑपरेटिव नोट्स, कंसल्टेशन नोट्स, डिस्चार्ज समरी, मनोचिकित्सक आकलन, पैथोलॉजी-लैब रिपोर्ट व एक्सरे रिपोर्ट(Medical History, Physical Report, Clinical Report, Office Notes, Operative Notes, Consultation Notes, Discharge Summary, Psychiatrist Assessment, Pathological and Lab Reports and X-Ray Reports) इत्यादि शामिल हैं।
 लेकिन हम बात कर रहे हैं इन वेबसाइट से पैसे कैसे कमाएं? इसीलिए मैं आपको बता दूं, कि ये वेबसाइट आपको अच्छा खासा पैसा कमाने का विकल्प भी देती है.  इन वेबसाइट के द्वारा आप हर वह ऑनलाइन काम कर सकते हो, जो आपको अच्छे से आता हो और जिसकी लोगों को जरूरत हो. बस आपको करना यह कि इन वेबसाइट पर जाकर आपको अपना Service Provider खाता बनाना होता है और इसके बाद आप अपने काम से रिलेटेड Gigg पोस्ट कर सकते हैं.
यूट्यूब पर बहुत सारे लोग दूसरों का मनोरंजन होने के लिए विभिन्न वीडियोस बनाते हैं और यूट्यूब पर अपलोड करते हैं | कई बार बहुत सारे वीडियोस ऐसे होते हैं जो बेहतरीन होने के कारण ट्रेंडिंग पर आ जाते हैं | जो वीडियो ट्रेंडिंग पर होता है उस वीडियो के कारण उस चैनल का मालिक आसानी से लाखों रुपए कमा लेता है, यूट्यूब पर काम करते समय आपका मनोरंजन होने के साथ-साथ आपको शोहरत भी मिलती है |
यदि आपको फोटो लेने का शौक है और आप बहुत अच्छे फोटोग्राफर हैं, तो आप स्टॉक फोटोग्राफर बनकर अपने फोटोज को ShutterStock या iStockPhoto जैसी स्टॉक फोटो कंपनी को बेचकर ऑनलाइन अतिरिक्त पैसा कमा सकते हैं। जब भी कोई आपके द्वारा सबमिट किया गया फोटो का लाइसेंस देगा, तो आपको हर बार रॉयल्टी मिलेगी। वास्तव में सफल होने के लिए, अपने पोर्टफोलियो का प्रदर्शन करने में सक्षम होने के लिए अपनी खुद की फोटोग्राफी वेबसाइट बनाएं और उच्च-भुगतान वाले निजी कॉर्पोरेट काम करना शुरू करें।
अभी सबसे महत्वपूर्ण सवाल. website से पैसे कैसे कमाते है. तो देखिये, दोस्तों! सबसे पहले इस बात को जनलो. दुनिया में जितने भी websites है. उनका कमाने का मुख्य तरीका विज्ञापान ही है. हमें खुदका blog बनाने के उसपर ad लगाने पड़ेंगे. Ads के लिये, google adsense को apply करना पड़ता है. जो की online advertisement कंपनी है. जब हमारी application approval होती है. तब जाके हमारे site पर विज्ञापन show होते है. और जब कोई विजिटर हमारे website को visit करके, show होने वाले ad पर click करता है. तो हमें per click पैसे मिलते है.
(function(){"use strict";function s(e){return"function"==typeof e||"object"==typeof e&&null!==e}function a(e){return"function"==typeof e}function l(e){X=e}function u(e){G=e}function c(){return function(){r.nextTick(p)}}function f(){var e=0,n=new ne(p),t=document.createTextNode("");return n.observe(t,{characterData:!0}),function(){t.data=e=++e%2}}function d(){var e=new MessageChannel;return e.port1.onmessage=p,function(){e.port2.postMessage(0)}}function h(){return function(){setTimeout(p,1)}}function p(){for(var e=0;et.length)&&(n=t.length),n-=e.length;var r=t.indexOf(e,n);return-1!==r&&r===n}),String.prototype.startsWith||(String.prototype.startsWith=function(e,n){return n=n||0,this.substr(n,e.length)===e}),String.prototype.trim||(String.prototype.trim=function(){return this.replace(/^[\s\uFEFF\xA0]+|[\s\uFEFF\xA0]+$/g,"")}),String.prototype.includes||(String.prototype.includes=function(e,n){"use strict";return"number"!=typeof n&&(n=0),!(n+e.length>this.length)&&-1!==this.indexOf(e,n)})},"./shared/require-global.js":function(e,n,t){e.exports=t("./shared/require-shim.js")},"./shared/require-shim.js":function(e,n,t){var r=t("./shared/errors.js"),i=(this.window,!1),o=null,s=null,a=new Promise(function(e,n){o=e,s=n}),l=function(e){if(!l.hasModule(e)){var n=new Error('Cannot find module "'+e+'"');throw n.code="MODULE_NOT_FOUND",n}return t("./"+e+".js")};l.loadChunk=function(e){return a.then(function(){return"main"==e?t.e("main").then(function(e){t("./main.js")}.bind(null,t))["catch"](t.oe):"dev"==e?Promise.all([t.e("main"),t.e("dev")]).then(function(e){t("./shared/dev.js")}.bind(null,t))["catch"](t.oe):"internal"==e?Promise.all([t.e("main"),t.e("internal"),t.e("qtext2"),t.e("dev")]).then(function(e){t("./internal.js")}.bind(null,t))["catch"](t.oe):"ads_manager"==e?Promise.all([t.e("main"),t.e("ads_manager")]).then(function(e){t("./ads_manager/main.js")}.bind(null,t))["catch"](t.oe):"publisher_dashboard"==e?t.e("publisher_dashboard").then(function(e){undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined}.bind(null,t))["catch"](t.oe):"content_widgets"==e?Promise.all([t.e("main"),t.e("content_widgets")]).then(function(e){t("./content_widgets.iframe.js")}.bind(null,t))["catch"](t.oe):void 0})},l.whenReady=function(e,n){Promise.all(window.webpackChunks.map(function(e){return l.loadChunk(e)})).then(function(){n()})},l.installPageProperties=function(e,n){window.Q.settings=e,window.Q.gating=n,i=!0,o()},l.assertPagePropertiesInstalled=function(){i||(s(),r.logJsError("installPageProperties","The install page properties promise was rejected in require-shim."))},l.prefetchAll=function(){t("./settings.js");Promise.all([t.e("main"),t.e("qtext2")]).then(function(){}.bind(null,t))["catch"](t.oe)},l.hasModule=function(e){return!!window.NODE_JS||t.m.hasOwnProperty("./"+e+".js")},l.execAll=function(){var e=Object.keys(t.m);try{for(var n=0;n=c?n():document.fonts.load(u(o,'"'+o.family+'"'),a).then(function(n){1<=n.length?e():setTimeout(t,25)},function(){n()})}t()});var w=new Promise(function(e,n){l=setTimeout(n,c)});Promise.race([w,m]).then(function(){clearTimeout(l),e(o)},function(){n(o)})}else t(function(){function t(){var n;(n=-1!=y&&-1!=g||-1!=y&&-1!=v||-1!=g&&-1!=v)&&((n=y!=g&&y!=v&&g!=v)||(null===f&&(n=/AppleWebKit\/([0-9]+)(?:\.([0-9]+))/.exec(window.navigator.userAgent),f=!!n&&(536>parseInt(n[1],10)||536===parseInt(n[1],10)&&11>=parseInt(n[2],10))),n=f&&(y==b&&g==b&&v==b||y==x&&g==x&&v==x||y==j&&g==j&&v==j)),n=!n),n&&(null!==_.parentNode&&_.parentNode.removeChild(_),clearTimeout(l),e(o))}function d(){if((new Date).getTime()-h>=c)null!==_.parentNode&&_.parentNode.removeChild(_),n(o);else{var e=document.hidden;!0!==e&&void 0!==e||(y=p.a.offsetWidth,g=m.a.offsetWidth,v=w.a.offsetWidth,t()),l=setTimeout(d,50)}}var p=new r(a),m=new r(a),w=new r(a),y=-1,g=-1,v=-1,b=-1,x=-1,j=-1,_=document.createElement("div");_.dir="ltr",i(p,u(o,"sans-serif")),i(m,u(o,"serif")),i(w,u(o,"monospace")),_.appendChild(p.a),_.appendChild(m.a),_.appendChild(w.a),document.body.appendChild(_),b=p.a.offsetWidth,x=m.a.offsetWidth,j=w.a.offsetWidth,d(),s(p,function(e){y=e,t()}),i(p,u(o,'"'+o.family+'",sans-serif')),s(m,function(e){g=e,t()}),i(m,u(o,'"'+o.family+'",serif')),s(w,function(e){v=e,t()}),i(w,u(o,'"'+o.family+'",monospace'))})})},void 0!==e?e.exports=a:(window.FontFaceObserver=a,window.FontFaceObserver.prototype.load=a.prototype.load)}()},"./third_party/tracekit.js":function(e,n){/**
URL Shortener का मतलब होता है किसी भी URL को short या छोटा कर देना. अब आप सोच रहे होंगे की URL को short करने की क्या जरुरत है और इससे पैसे कैसे कमाया जा सकता है. वैसे आपका सोचना भी बिलकुल ही जायज है. तब इसका जवाब है की लम्बे और बड़े URL किसी को भी पसंद नहीं होते हैं. ऐसे में अगर आप किसी के साथ कोई Link share करना भी चाहें तब भी आपको बड़े URL से जरुर घृणा होगी. ऐसे में URL Shortener बहुत ही ज्यादा काम आते हैं.
ऑनलाइन सामान बेचना – अगर आप किसी प्रोडक्ट को बनाने में महारत रखते हैं और आपको सिर्फ ऐसे प्लेटफार्म की जरुरत है जहाँ आपके प्रोडक्ट को लाखों लोग देख सके और खरीद सके तो इसके लिए आप ई-कॉमर्स वेबसाइट पर ऑनलाइन सेलर के रूप में अपने प्रोडक्ट्स बेच सकते हैं। ऐसा करने पर आप बिना खर्च के, लाखों लोगों तक अपने प्रोडक्ट्स की पहुँच बना पाएंगे और अपने प्रोडक्ट्स को ऑनलाइन बेचकर काफी अच्छा पैसा कमा सकेंगे।
जैसा की मैंने आपको बताया की Roz dhan एक Android Application है, इसलिए आपको सबसे पहले Google play store में जाना होगा और वहाँ  Search करना होगा Roz dhan उसके बाद जो एप्प सबसे पहले नंबर पर आएगी अपने उसको इनस्टॉल कर देना है।  मैं आपको बता दूँ की आजकल fake app भी बहुत सारी हैं। इसलिए मैं  Original Roz dhan App का Download link आपको नीचे दे देता हूँ ताकि आप गलत application download न कर लें।
हम उदाहरण के तौर पर समझना चाहेंगे जैसे कि आप एक दुकान खोल दे और उसमें आप जो समान sell  करते हैं customer उसके बारे में जाने तो इसमें आपका दुकान कभी grow नहीं कर पायेगा और आप सोचेंगे कि हम तो इतने अच्छे सामान बेचते हैं फिर भी customer  नहीं आते हैं यहां पर आपका सोचना सही है लेकिन आप को यह भी समझना होगा की आपने जो shop लगाया है उसके बारे में जानेंगे तभी तो आपके दुकान पर आएंगे तो इसके लिए आपको आपके दुकान के  सामने जो भी आप सामान बेचते हैं उसका आप poster लगाएं तथा आप इसके लिए marketing तथा advertising कर सकते हैं |   परिणाम स्वरुप यह सब करने के बाद आपके दुकान के बारे में जानने लगेंगे और आपका sell increase  होता जाएगा और आप अच्छे पैसे कमाने लगेंगे ठीक उसी प्रकार हम online money बनाने के लिए कुछ start  किए हैं तो उसके बारे में लोगों को पता चलेगा तो ही तो आप जो लोगों को जो service देना चाहते हैं उसे वह देखेंगे, समझे और अगर आपका service  पसंद आएगा तो उसे खरीद सकते हैं|  
इन नियमों के आधार पर यूट्यूब आपको आसानी से पैसा दे सकता है | ऐसा करते करते आपके चैनल पर लोग ज्यादा से ज्यादा विजिट करने लगेंगे, और ज्यादा से ज्यादा एडवरटाइजिंग देखेंगे जिससे आपका इंकम आसानी से शुरू हो जाएगा | जब आपका चैनल यूट्यूब के सारे टर्म एंड कंडीशन पूरे करता है और आपके चैनल का इनकम $१० पूरा हो जाता है तब गूगल ऐडसेंस आपके रजिस्टर एड्रेस पर एक लेटर भेजता है |
हम उदाहरण के तौर पर समझना चाहेंगे जैसे कि आप एक दुकान खोल दे और उसमें आप जो समान sell  करते हैं customer उसके बारे में जाने तो इसमें आपका दुकान कभी grow नहीं कर पायेगा और आप सोचेंगे कि हम तो इतने अच्छे सामान बेचते हैं फिर भी customer  नहीं आते हैं यहां पर आपका सोचना सही है लेकिन आप को यह भी समझना होगा की आपने जो shop लगाया है उसके बारे में जानेंगे तभी तो आपके दुकान पर आएंगे तो इसके लिए आपको आपके दुकान के  सामने जो भी आप सामान बेचते हैं उसका आप poster लगाएं तथा आप इसके लिए marketing तथा advertising कर सकते हैं |   परिणाम स्वरुप यह सब करने के बाद आपके दुकान के बारे में जानने लगेंगे और आपका sell increase  होता जाएगा और आप अच्छे पैसे कमाने लगेंगे ठीक उसी प्रकार हम online money बनाने के लिए कुछ start  किए हैं तो उसके बारे में लोगों को पता चलेगा तो ही तो आप जो लोगों को जो service देना चाहते हैं उसे वह देखेंगे, समझे और अगर आपका service  पसंद आएगा तो उसे खरीद सकते हैं|  
हेलो दोस्तों, मेरा नाम एस. के. सिन्हा है. मुझे ऑनलाइन डिजिटल मार्केटिंग तथा कर्रेंट न्यूज़ के बारे में पढ़ना और लोगो को बताना पसंद है. किसी नॉलेज का सबसे अच्छा इस्तेमाल यही है की उसे सीखो और दुसरो तक पंहुचा दो. हम यह यही करेंगे. अब जैसे जैसे इंटरनेट का इस्तेमाल बढ़ रहा है वैसे ही इंडिया भी डिजिटल होता जा रहा है. तो हम भी कुछ सीखेंगे कुछ सिखाएगे, इंडिया को थोड़ा और डिजिटल तथा युवाओ को ससकत बनायगे.
समझ लीजिए आपने किसी जॉब साइट को तैयार किया है और यह साइट बहुत ही जानी मानी है | इस साइट पर दिन भर में हजारों युसर्स आकर आपके पोस्ट देखते हैं | यह पोस्ट देखते समय आप आपके साइट पर गूगल ऐडसेंस के ऐड डाल सकते हो जिन पर क्लिक करके आपको गूगल ऑटोमेटिक पैसा देता है | जब आपके वेबसाइट के विजिटर्स ज्यादा से ज्यादा क्लिक करते हैं वैसे वैसे गूगल आपको पैसे देता है | गूगल ऐडसेंस के द्वारा लाखों रुपए कमाना आसान नहीं होता है, कुछ महीनों तक आपको आपके साइट पर ज्यादा से ज्यादा काम करना होता है |

UC News पर आप में बहुत से लोग न्यूज़ पढ़ने के लिए जाते होंगे. लेकिन आपको शायद यह नहीं पता होगा कि  UC न्यूज़ से आप अच्छी इनकम भी कर सकते हैं. अगर आप एक अच्छे राइटर हैं और आप UC News के लिए 300 से 400 शब्द के आर्टिकल आसानी से लिख सकते हैं. तो आप UC News पर न्यूज़ आर्टिकल लिख कर पैसे कमा सकते हैं. पैसे कमाने के लिए सबसे पहले आपको UC न्यूज पर अकाउंट बनाना पड़ता है और आपको UC न्यूज़ टाइप के आर्टिकल पब्लिश करने पढ़ते हैं.

 जब आप किसी विषय या विशेषता पर बस जाते हैं, तो आपको अपने वेब प्लान ऑफ एक्शन के लिए एक व्यवस्था को नीचे गिराना और निर्देशित करना चाहिए। आप किस बाजार के बारे में कहेंगे कि आप किस पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, और आप उस शोकेस को कैसे परोस सकते हैं? यह वह बिंदु है जिसे आपको अधिक विशिष्ट बनाम बनाम काम करने की आवश्यकता है: मैं इस बाजार से सबसे अधिक नकदी-प्रवाह कैसे प्राप्त कर सकता हूं? (एक महान कई लोग इसे उल्टा कर देते हैं और बाद में निराश हो जाते हैं जब उनके लिए काम नहीं करता है)
×