हेलो दोस्तों, मेरा नाम एस. के. सिन्हा है. मुझे ऑनलाइन डिजिटल मार्केटिंग तथा कर्रेंट न्यूज़ के बारे में पढ़ना और लोगो को बताना पसंद है. किसी नॉलेज का सबसे अच्छा इस्तेमाल यही है की उसे सीखो और दुसरो तक पंहुचा दो. हम यह यही करेंगे. अब जैसे जैसे इंटरनेट का इस्तेमाल बढ़ रहा है वैसे ही इंडिया भी डिजिटल होता जा रहा है. तो हम भी कुछ सीखेंगे कुछ सिखाएगे, इंडिया को थोड़ा और डिजिटल तथा युवाओ को ससकत बनायगे.
इंटरनेट मार्केटिंग – इंटरनेट के इस ज़माने में मार्केटिंग में भी इंटरनेट की मदद की ज़रूरत पड़ती है। ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग या इंटरनेट मार्केटिंग एक बहुत बड़ा एरिया बन गया है क्योंकि इंटरनेट पर मौजूद हर एक कंपनी या वेबसाइट को इस इंटरनेट मार्केटिंग का सहारा लेना ही पड़ता है। प्रोडक्ट्स, सर्विसेज, वेबसाइट, एप्प की ऑनलाइन मार्केटिंग का तरीका है इंटरनेट मार्केटिंग, जिसे बहुत आसानी से और कम समय में सीखा जा सकता है।
यह सिर्फ एक ही नहीं बल्कि कई कारकों का संयोजन है जो इस परिवर्तन को उत्पन्न करने का कारण है। आजकल, शिक्षण अब एक कर्तव्य नहीं, बल्कि पैसा कमाने का स्त्रोत बन गया है। स्कूलों और कॉलेजों के बाद शिक्षक निजी ट्यूशन (शिक्षण) केन्द्र चलाते हैं और ट्यूशन की कक्षाओं में प्रवेश लेने के लिए छात्रों को उकसाते भी हैं। यह सबसे सम्मानित शिक्षक-छात्र संबंधों को भी अपमानित कर रहा है, क्योंकि पैसा हमारे चरित्र को गंदा कर देता है। हम सब पैसे के पीछे भाग रहे हैं इसलिए शिक्षक भी ऐसा ही करते हैं। स्कूलों में उन्हें अच्छा पैसा नहीं दिया जाता है, इसलिए उन्हें ट्यूशन लेने के अतिरिक्त कोई दूसरा विकल्प दिखाई नहीं पड़ता है। इसके साथ ही, ग्रामीण स्कूलों और कुछ शहरी विद्यालयों की बुनियादी सुविधाओं की गुणवत्ता बहुत ही अनैतिक हो गई है। सुविधाओं की कमी इस समस्या को और बढ़ावा दे रही है। इसे रोकने के लिए, शिक्षकों को अच्छा पैसा दिया जाना चाहिए और बुनियादी सुविधाओं की गुणवत्ता में सुधार किया जाना चाहिए या प्रत्येक स्कूल को एक ही स्तर पर लाया जाना चाहिए।

ये थे कुछ “Internet se paise kamane ke tarike in Hindi“. आशा करता हूँ आपको घर बैठे इन्टरनेट से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए से related कुछ जानकारी मिल गए होंगे. मैं इसी post में आगे ऐसे बहुत सारे आसान तरीको के बारे में update करता रहूँगा, जिससे आप आसानी से online पैसे कमा सकते हैं. आप चाहे तो इस page को bookmark कर लीजिये और अपना सुझाब निचे comment करना ना भूलें. आपको यह लेख इन्टरनेट से पैसे कैसे कमाए कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले. मेरे पोस्ट के प्रति अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


ऑनलाइन पैसे कमाने की शुरुआत करने के लिए ब्लॉगिंग सबसे अच्छा तरीका है। आप Blogger या Wix जैसे फ्री blogging platform पर अपना खुद का मुफ्त बनलॉग बना सकते हैं और 6 माह बाद AdSense अकाउंट के अप्‍लाई कर अच्छे-खासे पैसे कमाना शुरू कर सकते हैं। ब्लॉगिंग बहुत ही आसान है और सबसे बढ़िया बात यह हैं की यह काम अपनी नौकरी करते हुए पार्ट टाइम अपने मन मर्जी से कर सकते हैं।

एक बार register करने के बाद आप अपने skill को Fiverr में sell कर सकते है. जिसकी कीमत $5 से start होता है. हर एक sell को एक Gig कहा जाता है. जब कोई user आपका gig user आपका gig खरीदता है, तो उसके बदले आपको $5 मिलते है. पर Fiverr हर sell का 20% खुद रखके बाकी आपको दे देता है. Fiverr पे काम करना बहुत ही आसान होता है और मैंने खुद भी काम किया है. अगर आपका भी ऐसा कोई talent है तो आप आज ही यहाँ register करिए.

आज की इस ऑनलाइन लाइफस्टाइल में इंटरनेट यूजर्स की संख्या बहुत ही तेज़ी से बढ़ी है और ऑनलाइन शॉपिंग से लेकर ऑनलाइन बिजनेस करने तक के ढेरों विकल्प अब हमारे सामने आ गये हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा ये है कि अगर आपके पास एक यूनिक आईडिया है तो आप अपना ऑनलाइन बिजनेस बड़ी आसानी से शुरू कर सकते हैं और इस ऑनलाइन बिजनेस में कम इन्वेस्टमेंट के बावजूद भी आप कुछ ही समय में एक अच्छा अमाउंट कमा सकते हैं। ऐसे में आज बात करते हैं ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं और इसके लिए कौनसे विकल्प मौजूद हैं।

 अगर आप को वीडियो बनाने के बारे में ज्यादा नॉलेज नहीं है, तो कोई बात नहीं. आपको YouTube पर ऐसे हजारों वीडियो मिल जाएंगे, जो आपकी प्रॉब्लम को बड़ी आसानी से सॉल्व कर देंगे. आपको यह जानकर आश्चर्य होगा, कि इंडिया में ऐसे बहुत से YouTuber हैं. जो YouTube के माध्यम से लाखों रुपए महीने का कमा रहे हैं. अगर आप कुछ क्रिएटिव कर सकते हैं YouTube आपके लिए गोल्ड से भी ज्यादा सुनहरा अवसर है.


संबद्ध विपणन के साथ ऑनलाइन लाभ के लिए सबसे सरल दृष्टिकोण है। आपको एक आइटम बनाने की ज़रूरत नहीं है, खरीदारी की टोकरी और व्यापारी खाते की स्थापना करें, ग्राहक प्रशासन करें, ग्राहकों के साथ काम करें, और इसके बाद। यह विशेष रूप से एक प्रथागत कमीशन-आधारित सौदों के समान है, जहां आप किसी भी व्यवसाय पर कमीशन जीतते हैं, जिसे आप अलाउड करते हैं। इसी तरह एक मिसाल के तौर पर, आप एक वेब सुविधा प्रदान करने वाले सदस्य कार्यक्रम को आगे बढ़ा सकते हैं और प्रत्येक नए रिकॉर्ड में शामिल हो सकते हैं।
×